Friday, January 4, 2008

Mere Mehboob Tere Dum Se

(मेरे मेहबूब तेरे दम से है दुनिया पे बहार
वरना इस घम से भरी दुनिया में क्या रखा है (२)) (२)
मेरे मेहबूब तेरे दम से

अपने गीतों में तेरा हुस्न नज़र आया है
इस लिए दील तेरी मेहफिल में मुझे लाया है
रास्ता भूल गया या मेरी मंजिल है येही (२)
कोई बतलाये के क्या खोया है क्या पाया है
मेरे मेहबूब तेरे दम से है दुनिया पे बहार
वरना इस घम से भरी दुनिया में क्या रखा है (२)
मेरे मेहबूब तेरे दम से

तेरी आंखों में नज़र आई है जन्नत मुझको
मेरी जन्नत तेरी आंखों के सिवा कोई नहीं
में तस्सव्वुर में तेरे झूम लिया करता हूँ (२)
मेरी दौलत तेरी चाहत के सिवा कोई नहीं
मेरे मेहबूब तेरे दम से है दुनिया पे बहार
वरना इस घम से भरी दुनिया में क्या रखा है (२)
मेरे मेहबूब तेरे दम से

जिन्दगानी में कई रंग के मोड़ आते है
तू सलामत रहे शायर की दुआ कहती है
चाँद घटता है घटे हुस्न तेरा बढ़ता राहे (२)
में रहूँ या न रहूँ मेरी वफ़ा केहती है
मेरे मेहबूब तेरे दम से है दुनिया पे बहार
वरना इस घम से भरी दुनिया में क्या रखा है (२)
मेरे मेहबूब तेरे दम से
===================================
(mere mehboob tere dum se hai duniyaa pe bahaar
varnaa is gham se bhai duniyaa mein kyaa rakhaa hai (2)) (2)
mere mehboob tere dum se

apne geeton mein teraa husn nazar aayaa hai
is liye dil teri mehfil mein mujhe laayaa hai
raastaa bhool gayaa yaa meri manzil hai yehi (2)
koyi batlaaye ke kyaa khoyaa hai kyaa paayaa hai
mere mehboob tere dum se hai duniyaa pe bahaar
varnaa is gham se bhai duniyaa mein kyaa rakhaa hai (2)
mere mehboob tere dum se

teri aankhon mein nazar aayi hai jannat mujhko
meri jannat teri aankhon ke sivaa koyi nahin
mein tassavvur mein tere jhoom liyaa kartaa hoon (2)
meri daulat teri chaahat ke sivaa koyi nahin
mere mehboob tere dum se hai duniyaa pe bahaar
varnaa is gham se bhai duniyaa mein kyaa rakhaa hai (2)
mere mehboob tere dum se

zindagaani mein kayi rang ke mod aate hai
tu salaamat rahe shaayar ki duaa kehti hai
chaand ghatataa hai ghate husn teraa badhataa raahe (2)
main rahoon yaa na rahoon meri wafaa kehti hai
mere mehboob tere dum se hai duniyaa pe bahaar
varnaa is gham se bhai duniyaa mein kyaa rakhaa hai (2)
mere mehboob tere dum se
===================================

Film: Bhai Bhai (1970)
Singer: Mohd Rafi
Lyricist: Hasrat Jaipuri
Music Director: Shankar-Jaikishan




Updated: August 9, 2008
Adding video clip:

No comments: